HBC Headlines

Search
Close this search box.

कमिश्नर की अनूठी पहल : सतरंगी रोशनी में नहाए बारात घर, सड़क तक दूल्हे का जलवा, नहीं लगा जाम

बरेली। कमिश्नर एवं आईजी के निर्देशन में बारातें सुव्यवस्थित हुई हैं और बारातघरों के सामने सड़कों पर भी पब्लिक को जाम से छुटकारा मिल गया है। शुक्रवार रात बदायूं रोड और पीलीभीत बाईपास रोड सतरंगी रोशनी में नहाए हुए थे। अधिकांश बारातघरों में द्वारचार के लिए घोड़ों के साथ बग्घी में बारात चढ़ रही थी। 100 मीटर के दायरे में सड़कों पर बैंड बाजा बारात चल रही थी। दूल्हे के दोस्त, रिश्तेदार डांस कर रहे थे, दूल्हे का जलवा कायम था, लेकिन कहीं भी जाम नहीं था।

पीलीभीत और बदायूं रोड पर 100 मीटर में घुमाई गई बारात

बारातघर से लेकर 100 मीटर के दायरे में रस्सी डालकर बारातों को घुमाया गया। द्वार चार के बाद बरातघरों की सीमा में ही विवाह संबंधित सभी रीति रिवाज परंपराएं और संस्कारों का निर्वहन किया गया। कमिश्नर सौम्या अग्रवाल ने बताया कि शहर की व्यस्ततम सड़कों पर सभी बारातघरों में नोडल कर्मचारी तैनात कर दिए गए हैं। स्थानीय पुलिस और राजस्व टीम को निर्देश दिए गए हैं कि किसी भी स्थिति में वहां जाम न लगने दें। इसका असर है की बारात घर संचालक स्वयं इसका ध्यान रख रहे हैं और जाम से पब्लिक को राहत मिली है।

बगैर रजिस्ट्रेशन के नहीं चलेंगे होटल और बारातघर

कमिश्नर ने नगर आयुक्त निधि गुप्ता वत्स को निर्देश दिए हैं कि वह बगैर रजिस्ट्रेशन के चल रहे होटल और बारातघरों के खिलाफ कार्रवाई करें। सभी को नोटिस जारी किए जाएं। इसी क्रम में शहर के करीब 60 से ज्यादा बड़े आलीशान होटल और बारातघरों को नगर निगम ने नोटिस जारी किया है। अभी तक इन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। बगैर रजिस्ट्रेशन के चल रहे होटल और बारात घरों को बंद कराया जाएगा। होटल और बारात घर के संचालक अपने यहां होने वाले किसी भी आयोजन की स्वयं जिम्मेदारी लेंगे। बारात व अन्य आयोजन होटल और बारातघर की सीमा के अंदर होंगे। सड़क पर सजावट और अतिक्रमण करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

राजस्व टीम करेंगी दौरा, थानेदारों की तय होगी जिम्मेदारी, आईसीसी के जरिए होगी निगरानी

कमिश्नर ने बताया कि किसी भी बारात घर के सामने जाम लगा तो उसकी जिम्मेदारी अब बारात घर संचालक और स्थानीय थाना पुलिस की होगी। राजस्व टीमें बारातघरों का दौरा करेंगी। इंटीग्रेटेड कंट्रोल कमांड सेंटर के सीसीटीवी के जरिए भी बारातघरों की निगरानी की जा रही है। जिससे कि वहां जाम की स्थिति ना बने। 100 मीटर के दायरे में ही बारात चढ़ने के कार्यक्रम होंगे। इसके बाद बारात घर की सीमा के अंदर सभी कार्यक्रमों का आयोजन किया जाए। सजावटी गेट, इलेक्ट्रिक लड़ियां समेत किसी भी तरह का अतिक्रमण बारातघरों और होटल के बाहर सड़क पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सभी को स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं किसी भी स्थिति में आम पब्लिक जाम नहीं झेलेगी।

HBC Headlines
Author: HBC Headlines

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज