HBC Headlines

Search
Close this search box.

छात्रा को ट्रेन से फेंकने वाला गिरफ्तार, कमिश्नर, आईजी, डीएम, एसएसपी पहुंचे अस्पताल, इंस्पेक्टर समेत चार पुलिस कर्मी सस्पेंड

बरेली। सीबीगंज के खड़ौआ रेलवे क्रॉसिंग के पास छात्रा को ट्रेन से फेंकने वाले शोहदे को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। छात्रा का एक हाथ और दोनों पैर कट गए। गंभीर हालत में उसका निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीड़ित परिवार को पांच लाख मुआवजा देने की घोषणा की है। कमिश्नर सौम्या अग्रवाल, आईजी डॉक्टर राकेश सिंह, डीएम रविंद्र कुमार और एसएसपी घुले सुशील चंद्रभान के साथ अधिकारियों ने घायल का अस्पताल में हाल जाना। उसके मुफ्त इलाज की घोषणा की है। इंस्पेक्टर समेत चार पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है।

बेहतर इलाज के लिए छात्रा को एलएस एंबुलेंस से किया शिफ्ट

बुधवार सुबह निजी अस्पताल पहुंचे डीएम ने मीडियो को बताया कि इस मामले का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसका संज्ञान लिया है। सीएमओ से बात कर बेहतर इलाज के लिए छात्रा को एएलएस एंबुलेंस से शिफ्ट कर रहे है। इलाज में जो भी खर्च होगा उसकी भरपाई सरकार करेगी। योगी सरकार की तरफ से पांच लाख रुपये देने की घोषणा हुई है। प्रशासन स्तर पर मदद की जा रही है। जांच के आधार पर जो भी तथ्य आएगा उसपर कार्रवाई की जाएगी।

इंस्पेक्टर, हल्का इंचार्ज, बीट के सिपाही निलंबित

एसएसपी घुले सुशील चंद्रभान ने बताया कि आरोपी विजय मौर्य और विशाल के पिता को गिरफ्तार कर लिया है। इंस्पेक्टर सीबीगंज अशोक कुमार कंबोज, हल्का दरोगा नितेश शर्मा और बीट के सिपाही होरी लाल को क्षेत्र में सही तरीके की जानकारी नहीं थी। इसके लिए उन्हें निलंबित किया गया है। छात्रा के परिजनों ने तहरीर में बताया कि आरोपी छात्रा से बात करने की कोशिश करता था। यह बात आरोपी के पिता को भी बताई गई। लेकिन उसने भी संज्ञान नहीं लिया गया। इसके बाद आरोपी ने छात्रा को ट्रैक पर धकेल दिया। एफआईआर दर्ज कर ली गई है। कठोर कार्रवाई की जा रही है।

ये था मामला

छात्रा के परिजन के मुताबिक उनकी 16 वर्षीय बेटी एक इंटर कॉलेज में दसवीं की छात्रा है। स्कूल के बाद वह कोचिंग आती-जाती थी तो शोहदे उसका पीछा करते थे। मंगलवार शाम को भी ऐसा ही हुआ। जब उनकी बेटी कोचिंग से घर लौट रही थी। इसी दौरान शोहदों ने उसे रास्ते में रोक लिया और छेड़छाड़ शुरू की। जब उनकी बेटी ने आरोपियों का विरोध किया तो उन्होंने उसे ट्रेन के आगे फेंक दिया। इससे उसके दोनों पैर और एक हाथ कट गया।

HBC Headlines
Author: HBC Headlines

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज