HBC Headlines

Search
Close this search box.

डिप्टी सीएम ने आयुष्मान भारत योजना में सर्वाधिक योगदान के लिए एसआरएमएस को किया सम्मानित

डिप्टी सीएम ने आयुष्मान भारत योजना में सर्वाधिक योगदान के लिए एसआरएमएस को किया सम्मानित

बरेली, 26 अगस्त। डिप्टी सीएम ने आयुष्मान भारत योजना में एसआरएमएस के सर्वाधिक योगदान के लिए सम्मानित किया। समारोह में स्वास्थ्य संस्थानों को भी पुरस्कृत किया, श्रीराम मूर्ति स्मारक इंस्टीट्यूट भी सम्मानित। समारोह में डिप्टी सीएम ने सेवाओं की प्रशंसा की और भविष्य के लिए प्रतिबद्ध रहने की बात कही।


आयुष्मान भारत- प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के पांच वर्ष होने पर 25 अगस्त को लखनऊ में सम्मान समारोह आयोजित हुआ। पांच वर्ष आयुष्मान, स्वास्थ्य, समृद्धि और सम्मान नाम से राणा प्रताप मार्ग पर स्थित होटल फार्च्यून पार्क में आयोजित इस समारोह की अध्यक्षता उप मुख्यमंत्री व मेडिकल हेल्थ और फैमिली वेलफेयर मंत्री ब्रजेश पाठक ने की। उन्होंने इस योजना में उत्कृष्ट कार्य करने वाले प्रदेश के दस स्वास्थ्य संस्थानों को सम्मानित किया। इसमें बरेली स्थित श्रीराम मूर्ति स्मारक इंस्टीट्यूट आफ मेडिकल साइंसेज (एसआरएमएस आईएमएस) को भी सर्टिफिकेट और ट्राफी देकर सम्मानित किया। यह सम्मान एसआरएमएस ट्रस्ट के लखनऊ स्थित संस्थानों की डायरेक्टर अंबिका मूर्ति ने स्वीकारा। अंबिका ने आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना संचालित करने वाली स्टेट एजेंसी साचीस का धन्यवाद करते हुए इसका श्रेय एसआरएमएस ट्रस्ट के संस्थापक व चेयरमैन देव मूर्ति के संकल्प और मेहनत के साथ आम लोगों को दिए जा रहे गुणवत्तापूर्ण इलाज को दिया। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश से दस स्वास्थ्य संस्थानों में एसआरएमएस मेडिकल कालेज को चुना जाना निसंदेह सम्मान की बात है। इससे ज्यादा गर्व की बात है कि सम्मान हासिल करने वाले निजी क्षेत्र के तीन स्वास्थ्य संस्थानों में से एक में एसआरएमएस मेडिकल कालेज का होना। इससे हमारी जिम्मेदारी और भी बढ़ जाती है। हमें भरोसा है कि हम भविष्य में भी निरंतर आम लोगों के गुणवत्तापूर्ण इलाज में अपना सर्वश्रेष्ठ योगदान देते रहेंगे। इस मौके पर ब्रजेश पाठक ने आयुष्मान भारत- प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना को मील का पत्थर बताया। कहा कि इसके जरिए आम लोग मेडिकल कॉलेजों के साथ ही सभी निजी अस्पतालों में भी इलाज हासिल करने में सक्षम हो पाए हैं। इसका सारा खर्च सरकार द्वारा उठाए जाने से लाभार्थियों को अलग से खर्च की जरूरत नहीं पड़ती। मेडिकल हेल्थ और फैमिली वेलफेयर राज्य मंत्री राजा मयंकेश्वर शरण सिंह ने भी योजना के संबंध में जानकारी दी। समारोह के आरंभ में मेडिकल हेल्थ और फैमिली वेलफेयर डिपार्टमेंट के प्रधान सचिव पार्थ सारथी सेन शर्मा ने प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के संबंध में जानकारी दी। स्टेट एजेंसी फॉर कंप्रीहेंशन हेल्थ एंड इंटीग्रेटेड सर्विसेज (SACHIS) की सीईओ संगीता सिंह ने पांच वर्ष की उपलब्धियों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि एसआरएमएस मेडिकल कालेज आयुष्मान भारत योजना के तहत मरीजों का इलाज करने में पहले नंबर पर है। यहां सबसे ज्यादा मरीजों का इलाज होता है। मेडिकल एजूकेशन डिपार्टमेंट के प्रधान सचिव आलोक कुमार, नेशनल हेल्थ अथॉरिटी के एडिशनल सीईओ डा.बसंत गर्ग, नीति आयोग के सदस्य डा.विनोद कुमार पॉल ने भी संबोधित किया। इस मौके पर नेशनल हेल्थ मिशन की मिशन डायरेक्टर डा.पिंकी जोएल और नेशनल हेल्थ अथॉरिटी के डायरेक्टर किरण गोपाल वस्क भी मौजूद रहे। आयुष्मान भारत योजना में योगदान के लिए सम्मानित किए जाने पर एसआरएमएस ट्रस्ट के संस्थापक व चेयरमैन देव मूर्ति जी और कालेज के डायरेक्टर आदित्य मूर्ति जी ने संयुक्त बयान में सभी को बधाई दी। उन्होंने इसका श्रेय अस्पताल पर बढ़ते मरीजों के विश्वास और यहां कार्यरत डॉक्टर, नर्सिंग, पैरामेडिकल और सारे स्टाफ को दिया। उन्होंने कहा कि सम्मान हासिल करने के बाद हम पर और अच्छा काम करने की जिम्मेदारी बढ़ जाती है। सभी के सहयोग से हम गुणवत्तापूर्ण सेवा करते रहेंगे।

HBC Headlines
Author: HBC Headlines

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज