HBC Headlines

Search
Close this search box.

मुख्यमंत्री की सौगात : नेपाल बॉर्डर के गांव पूरनपुर से सीधे जुड़ेंगे, शारदा पर बनेगा पुल

बरेली। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नेपाल बॉर्डर के गांवों के लोगों को सौगात दी है। मुख्यमंत्री ने पूरनपुर तहसील मुख्यालय से नेपाल बॉर्डर के गांवों को जोड़ने के लिए शारदा नदी पर पुल बनाए जाने को मंजूरी दे दी है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 314.18 करोड़ के बजट को दी मंजूरी

314.18 करोड़ की लागत से शारदा नदी पर 3.287 किलोमीटर टू लेन पुल बनाया जाएगा। इसको लेकर तैयारी शुरू हो गई है। मंडलायुक्त सौम्या अग्रवाल ने बताया कि सेतु निगम धनारा घाट पर पुल का निर्माण कराएगा। सेतु निगम के अफसरों को टेंडर प्रक्रिया पूरी करने के निर्देश दिए गए हैं।

70 किलोमीटर रह जाएगी नेपाल बॉर्डर के गांवों की दूरी

तहसील मुख्यालय से नेपाल बार्डर के गांव की दूरी अब 70 किलोमीटर रह जाएगी। अभी तक बाढ़ की वजह से नेपाल बॉर्डर के दर्जनों गांव के लोग मैलानी, खुटार होते हुए पूरनपुर पहुंचते थे। उन्हें 180 किलोमीटर घूमकर तहसील मुख्यालय जाना पड़ता था। शारदा नदी पर पुल के निर्माण के बाद अब पूरनपुर से नेपाल बॉर्डर के गांवों की दूरी 70 किलोमीटर जाएगी।

मंडलायुक्त ने चौपाल लगाकर गांव वालों को पुल बनवाने के लिए किया था आश्वस्त

मंडलायुक्त सौम्या अग्रवाल ने 20 जुलाई 23 को नेपाल बॉर्डर के गांवों में चौपाल लगाई थी। उन्होंने गांवों में मूलभूत समस्याओं से जूझ रहे गांव के लोगों को आश्वस्त किया था कि जल्द ही उनकी समस्याओं का समाधान किया जाएगा। उन्होंने नॉर्मल डिलीवरी, बिजली और ऑनलाइन एजुकेशन समेत कई समस्याओं का समाधान पहले ही करवा दिया। स्मार्ट क्लासेज की भी व्यवस्था की जा रही है। मंडलायुक्त सौम्या अग्रवाल ने इस पूरे मामले की रिपोर्ट शासन को भेजी थी। जिस पर संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 3.87 किलोमीटर लंबे टू लेन पुल को शारदा नदी पर बनाने की मंजूरी दे दी है। इसको लेकर 314.18 करोड का बजट मंजूर कर दिया है। टेंडर प्रक्रिया शुरू हो गई है।

धनारा घाट पर पुल बनने से ढाई लाख की आबादी को मिलेगा लाभ

बरसात के दिनों में जलभराव और शारदा नदी में बाढ़ आने पर नेपाल बॉर्डर के गांव का पूरनपुर से संपर्क टूट जाता है। गांव में बिजली समेत कई समस्याएं खड़ी हो जाती हैं। शारदा नदी के कटान से सड़कें टूट जाती हैं। नेपाल बॉर्डर के गांव हजारा, भरतपुर, अशोक नगर, अयोध्यापुरी, चंदन नगर, लक्ष्मण नगर, नेहरू नगर, राम नगर, बिनोवा नगर, राघव पुरी, धर्मपुरी समेत कई गांव में रहने वाली ढाई लाख की आबादी को पुल निर्माण होने से सीधा लाभ मिलेगा।

HBC Headlines
Author: HBC Headlines

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज