HBC Headlines

Search
Close this search box.

पहले लगी निराशा फिर भी नहीं मानी हार, आज जैवित खेती कर इस किसान ने उगा दी लाल भिंडी

निखिल स्वामी/बीकानेर. बीकानेर के धोरों में कई तरह की सब्जियां उगती है. लेकिन अब नई नई तरह की जैविक खेती से किसान लाल कलर की भिंडी भी उगाने लगे है. यह कमाल कर दिखाया है बीकानेर के नोखा तहसील के किसान कैलाश लूणावत ने. कैलाश ने बताया कि उन्होंने कुछ नया करने के लिए लाल कलर की भिंडी उगाई है. संभवत यह बीकानेर में पहली बार हुआ है की रेगिस्तान के धोरों में लाल कलर की भिंडी की खेती की गई है.

कैलाश ने बताया कि उन्होंने पिछली बार भी लाल कलर की भिंडी उगाई थी, लेकिन उस समय भिंडी खराब हो गई और घर के लायक एक समय सब्जी बनी थी, लेकिन इस बार भिंडी काफी अच्छी मात्रा में खेत में लहलहा रही है. ऐसे में किसान कैलाश भी काफी खुश नजर आ रहे है कि वह पिछली साल तो लाल भिंडी उगाने में असफल हो गए थे, लेकिन इस साल सफल हो गए. किसान कैलाश बताते है कि वह अभी इसको बाजार में नहीं बेचेंगे, अगले साल बड़ी मात्रा में बीज लगाकर बाजार में बेचा जाएगा.

पोषक तत्वों से होती है भरपूर
उन्होंने ने बताया कि लाल कलर की भिंडी के बीज ऑनलाइन मंगवाए थे, उसके बाद मई में बीज लगाए गए. उन्होंने अपने खेत में 10 बाई 20 की कई क्यारी बनाई थी. जिसमें 200 पौधे लगे थे, लेकिन अभी 60 से 70 पौधे ही सही है. कई पौधे खराब हो गए. जून के अंत में फूल निकलकर उनसे लाल कलर की भिंडी निकलनी शुरू हो गई. इस माह के अंत तक सारी भिंडी तोड़ लेंगे. इस बार वह घर तक या अपने रिश्तेदार को ही दे पाएंगे. जिससे वह इस लाल कलर की भिंडी की सब्जी का स्वाद तीन से चार बार चख सकेंगे.

कैलाश बताते है कि उन्होंने लाल कलर की भिंडी की खेती पूरी तरह जैविक तरीके से की है. इसमें सबसे पहले जमीन में बड़ी मात्रा में गोबर डालकर सही किया, फिर बीज डाले गए. लाल कलर की भिंडी में एंटी ऑक्सीडेंट होते है और इसमें आयरन और कैल्शियम सहित कई पोषक तत्व भरपूर मात्रा में होते है.

Tags: Agriculture, Bikaner news, Local18, Rajasthan news

Source link

HBC Headlines
Author: HBC Headlines

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज